मंगलवार, 17 दिसंबर 2013

To LoVe 2015: अंजली तेंडुलकर तुम कम महान नहीं हो


सचिन के करियर से युवा एक और बात सीख सकते हैं। शादी अपने से बड़ी लड़की से करो, कम से कम जहनी तौर पर, जो समझदार हो, आपके प्रफेशन की दिक्कतों और जिम्मेदारियों को समझते हुए तालमेल बैठाएं और लड़कियों के लिए भी यह समझने वाली बात है कि अगर वह चाहें तो अपने पति को उन ऊंचाइयों तक पहुंचा सकती हैं जो सचिन ने हासिल की बशर्ते वह सारी परेशानियों को अपनी समझदारी से हैंडेल करने की क्षमता रखें- मेरी तरफ से सचिन-अंजली और उनके परिवार को ढेर सारी शुभकामनाएं-




सचिन होने का मतलब। 24 वर्षोँ तक मैदान में खेलते एक शख्स को देखते हुए कुछ पीढ़ियों का जवान होना। जवानी के सपने देखती एक पीढ़ी के बालों का सफेद होना। बेसिक फोन के जमाने से मोबाइल इंटरनेट के दौर में पहुंचना। सबकुछ बदल रहा था, क्रिकेट टीम में भी गावस्कर गए, कपिल गए, अजहर, सौरभ् और द्रविड़ गए। एक जगह जो नहीं बदली, वो थी सचिन की। वो इसलिए क्योंकि यह शख्स खुद को लगातार बदल रहा था, देश की जरूरत के हिसाब से, क्रिकेट मुकाबलों की आवश्यकता के हिसाब और शरीर की क्षमताओं के हिसाब से। सचिन होने का मतलब है-खुद में एक मैनेजमेंट कोर्स या प्रबंधन गुरू का होना। जो यह बताता है कि अपने प्रफेशन में अगर आपको लिविंग लीजेंड बनना है तो कैसा जूनून और खुद को लगातार बदलने की कैसी क्षमताएं होनी चाहिए-
/a>
FuLl MoViEs
MoViEs To mOvIeS
XXX +24 <

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें